अंतरराष्ट्रीय समाचार

राज्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित हुए उत्कर्ष सिंह

राज्य अकादमी पुरस्कार से उत्कर्ष सिंह.     सम्मानित हुए

गाजीपुर – सम्भावना कला मंच के नन्हें मास्टर चित्रकार उत्कर्ष सिंह को राज्य ललित कला अकादमी, लखनऊ की तरफ से कल लखनऊ में अकादमी पुरष्कार उपमुख्यमंत्री माननीय डॉ. दिनेश चन्द्र शर्मा के हाँथो से सम्मानित किया गया। जिसमें उत्कर्ष को पुरस्कार स्वरूप 5000/- रुपये, सम्मान पत्र एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। ललित कला अकादमी उ प्र के 60 वें० स्थापना दिवस के समारोह अवसर पर यह पुरस्कार इन्हें कोरोना काल में हुए ‘कोविड-19 अखिल भारतीय चित्रकला प्रतियोगिता’ जूनियर वर्ग में बनाये गए , चित्र पर मिला है। ललित कला अकादमी के द्वारा पुरस्कृत कलाकारों के चित्रों की कला प्रदर्शनी भी आयोजित किया गया था |

जिसमें वरिष्र्ठ कलाकारों के साथ उत्कर्ष सिंह के चित्र भी आकर्षण का केन्द्र बना हुआ था । उत्कर्ष सिंह गाज़ीपुर के जाने-माने चित्रकार व शिक्षक डॉ. राज कुमार सिंह जी व शिक्षिका सीमा सिंह के सुपुत्र एवं न्यू होरेजाइन पब्लिक स्कूल के छात्र हैं। उत्कर्ष को इससे पहले भी चित्रकला में साहित्य चेतना समाज एवं वेलफेयर क्लब, गाज़ीपुर एवं कई अन्य कई सारे पुरस्कार मिल चुके हैं। इतनी कम उम्र में ही कला के क्षेत्र में कई उपलब्धियाँ मिलना उत्कर्ष के उत्कृष्टता को प्रदर्शित करता है। यह लॉकडाउन के खाली समय में अपनी शिक्षक, कई फिल्मों के एक्टर आदि के पोट्रेट्स और चित्रों को भी बनाये हैं। इनकी चित्र अभी ‘आर्ट्स प्लानेट फाउंडेशन, पुणे में भी प्रदर्शित की गई थी। यह नन्हा कलाकार कला क्षेत्र की प्रसिद्ध कला संस्था सम्भावना कला मंच से भी जूड़े हुए हैं। यह अपने इस उपलब्धि के लिए सपना सिंह, राजीव कुमार गुप्ता और सुधीर सिंह, कृष्ण कुमार पासवान, वरुण कुमार मौर्य और

अपने बड़े भाई बहनों को श्रेय देते हैं। पुरस्कार लेते समय अपनी मंजुला सिंह, आलोक सिंह, राहुल  यादव एवं प्रसिद्ध चित्रकार संजय साहनी उपस्थित थे। उत्कर्ष के इस उपलब्धि के लिए क्षेत्रिय ललित कला अकादमी लखनऊ के सचिव देवेन्द्र त्रिपाठी, प्रसिद्ध समाज सेवी और पूर्व ब्लाक प्रमुख रामायण सिंह यादव, प्रसिद्ध कवि और पूर्व प्रधानाचार्य आलोक कुमार श्रीवास्तव, कलाकार और शिक्षक सूर्यनाथ पाण्डेय, मनोज सिंह, पुष्कर सिंह, आलोक सिंह, सुजीत जी ने इस पुरस्कार को प्राप्त करने के लिए बधाई दी और भविष्य में और अधिक आगे बढ़ने के लिए आशिर्वाद दिया। साहित्य चेतना समाज के संस्थापक अमरनाथ अमर जी ने बताया कि इस नन्हे कलाकार के प्रतिभा को हम कई साल पहले ही पहचान गये थे इसलिए संस्था पुरस्कृत भी कर चुकी है। गाजीपुर के सभी कलाकार उत्कर्ष की इस उपलब्धि से प्रसन्नता व्यक्त किये।

रिपोर्टर संवाददाता –

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker