अंतरराष्ट्रीय समाचार

रामजी सिंह के आकस्मिक निधन होने से क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ पड़ी

गाजीपुर मरदह। स्थानीय मरदह गांव व ग्राम सभा हरहरी के निवासी आर्चाय जी के नाम से प्रसिद्ध शिक्षाविद लक्ष्मण सिंह के बड़े भाई रामजी सिंह   (68 वर्ष) का आकस्मिक निधन क्षेत्र में शोक की लहर। प्राप्त सूचना के आधार पर मालूम हो कि रामजी सिंह का बिगत दो दिनों से तबियत खराब चल रहा था, अचानक रविवार स्वास्थ्य और     बिगड़ने पर परिजन आनन-फानन में इलाज के   लिए मऊ स्थित हास्पिटल में ले गए , जहाँ से उन्हें चिकित्सकों बीएचयू रेफर कर दिया।

फिर परिजन मऊ से वाराणसी जा ही रहे थे कि अस्पताल पहुचंते-पहुचंते उनका ब्रेन हेमरेज हो    गया , जिससे उनका निधन हो गया। निधन की सूचना मिलते ही परिजनों में जहां कोहराम मच    गया | वहीं पूरे मरदह व हरहरी गांव सहित क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। मृतक वर्ष 2012 ने बलिया जिले में जलनिगम के क्लर्क पद से सेवानिवृत्त हुए थे | और थाना के बगल स्थित आवास में सहपरिवार निवास करते थे। इनकेे निधन की खबर मिलते ही शोक संवेदना प्रकट करने वालों का तांता लग गया |

शव का अंतिम दाह संस्कार आज दिन सोमवार     को शहर के श्मशान घाट पर किया गया। मुखाग्नी इनके पुत्र सुनील कुमार सिंह ने दिया। शोक संवेदना प्रकट करने वालों में भाजपा नेता जितेंद्रनाथ पांडेय, जयप्रकाश पाण्डेय, पूर्व प्रधान रामजी गुप्ता, रामबली सिंह, विजय बहादुर सिंह, प्रवीण पटवा, शशिप्रकाश सिंह, आशीष कुमार सिंह मन्टू, संजय सिंह गब्बर, अनुज विश्वकर्मा, अजीत विश्वकर्मा, विकास सिंह,
आदि लोग मौजूद रहे।

रिपोर्टर संवाददाता –

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker